Tag: Al Qaeda

जिंदगी के रंग – 53

  सूरज ङूबने वाला था, ना जाने क्यों ठिठका ? अपनी लालिमा के साथ कुछ पल बिता पलट कर बोला – अँधेरे से ङरना मत । यह रौशनी-अधंकार कालचक्र है। मैं कल फिर आऊँगा !!!!!     image by Rekha Saha… Source: जिंदगी के रंग – 53